बुरी संगति- short moral story 

एक बार की बात है, एक बालक बड़ी बुरी संगति में फँस गया। वह दिन भर आवारा बच्चों के बीच में हाई रहता था।

उसका पढ़ाई में बिल्कुल भी मन नहीं लगता था। उसके माता-पिता भी उसके चाल चलन से बहुत दुखी रहते थे।

उसको बार बार समझाते भी थे। कभी-कभी डराते व धमकाते भी थे।

15 best Tenali Raman moral story in Hindi for kids with moral

लेकिन उसके व्यवहार में कोई अंतर नहीं आता था।

घर वालों के बार- बार मना करने पर भी वह बुरे बच्चों का साथ नहीं छोड़ता था।

एक बार उसके पिता जी बाज़ार गए। वहाँ से वह एक किलो ताजे सेब ले कर आए।

लेकिन उनके साथ वह एक सड़ा हुआ सेब भी लाए।

उन्होंने सभी सेब अपने लड़के को देकर कहा, इन्हें मिलाकर अलमारी में रख दो।

लड़के ने सभी सेब मिलाकर अलमारी में रख दिए।

तीसरे दिन उसके पिता जी ने कहा- बेटा यहाँ आओ। अलमारी में से सेब ले आओ, सेब खाएँगे।

लड़का दौड़कर सेब ले आया। लेकिन वह सेब देखकर हैरान हो गया। क्यूँकि सभी सेब सड़ गए थे।

11 अकबर और बीरबल की कहानी हिंदी में

उसने अपने पिता जी से कहा परसों तो सारे सेब अच्छे थे।केवल एक ही सेब ख़राब था। आज इन्हें क्या हो गया।

उसके पिता जी ने कहा बेटा एक सड़े हुए सेब की संगति पाकर अन्य ताजे सेब भी सड़ गए।

इसी प्रकार एक ही गलत लड़के की संगति पाकर कई अच्छे लड़के भी गलत हो जाते है।

गलत संगति पाकर आदमी भी सेबों की तरह बेकार हो जाता है। इसलिए गलत संगति में नहीं पड़ना चाहिए।

उस दिन से उस लड़के ने बुरी संगति छोड़ दी और वह एक अच्छा लड़का बन गया

21 short moral story in Hindi for kids

Moral 

बुरी संगति कभी नहीं करनी चाहिए।हमेशा अच्छे ओर सच्चे दोस्त बनाने चाहिए।

 

 

 


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.