भारत के त्यौहार- essay in hindi

भारत एक ऐसा देश है जिसमें विभिन्न धर्मों व जातियों के लोग मिल जूल कर एक साथ रहते है। सभी लोग समय-समय पर अपने धर्म के अनुसार त्यौहार मनाते है। त्यौहार सभी के लिए बहुत ख़ुशी का दिन होता है।

त्यौहार के दिन लोग सारी चिंताओं को छोड़ कर ख़ुशियाँ मनाते हैं। बच्चे त्यौहारों की बहुत दिनों पहले से ही प्रतीक्षा करने लग जाते है।

कुछ त्यौहारों को सारे धर्म के लोग मनाते है।जिन त्यौहारों को सारे राष्ट्र के लोग मनाते हैं, उन्हें राष्ट्रीय पर्व कहते हैं।

लेकिन कुछ त्यौहार धर्म के अनुसार भी मनाए जाते हैं। जिन त्यौहारों को कुछ ही धर्मों के लोग मनाते हैं, उन्हें धार्मिक त्यौहार कहते हैं।

हमारे देश में, 15 अगस्त, स्वतंत्रता दिवस व 26 जनवरी, गणतंत्र दिवस, दो राष्ट्रीय पर्व हैं। इन्हें सभी नागरिक बड़ी श्रद्धा व ख़ुशी के साथ मनाते हैं।

भारत के त्यौहार- essay in hindi

इसके अतिरिक्त 2 अक्टूबर, गाँधी जयंती व 14 नवम्बर, बाल दिवस के रूप में मनाया जाता हैं। कई अन्य महापुरुषों की ज्योतियाँ भी भारत देश में बड़े हर्ष से मनाई जाती है।

Top 9 foods for increase height of your kids

हिंदू धर्म भारत देश में एक ऐसा धर्म है, जिसके वर्ष भर में कई त्यौहार मनाए जाते है, जैसे, दशहरा, होली, दीपावली, रक्षाबंधन, जन्माष्टमी, आदि प्रमुख हैं।हिंदू लोग अपने त्यौहारों को बड़ी धूम-धाम से मनाते हैं।

उस दिन बच्चे नए कपड़े पहनते हैं। त्यौहारों पर नए-नए पौष्टिक पकवान बनाते हैं। मिष्ठान व पकवान अपने मित्रों को भी दिए जाते हैं। सभी लोग एक दूसरे को त्यौहारों की बधाई भी देते हैं।

मुसलमानों के मुख्य रूप से दो त्यौहार हैं- ईद-उल-फितर (मीठी ईद) और ईद-उल-ज़ुहा (बकरी ईद)। इन दोनों ईदों के दिन मुसलमान लोग बहुत ख़ुशी से मनाते हैं। उनके घर खूब हर्षों उल्लास का माहौल होता है।

ईद-उल-फितर को मीठे पकवान बनाए जाते हैं जबकि ईद-उल-ज़ुहा को बकरी या बकरे की बलि दे कर उनका मांस पकाया जाता है। ईद के दिन प्रातः ईदगाह में नमाज़ पढ़ी जाती है। फिर दिन भर उत्सव मनाया जाता है।

ईसाइयों के मुख्यतः दो त्यौहार होते हैं- क्रिसमस डे व गुड फ़्राइडे। इस दिन ईसाई लोग प्रातः गिरजा घरों में जाकर प्रेयर करते हैं। उसके बाद अपने घरों पर विभिन्न तरीक़ों से उत्सव मनाते हैं।

हमारे देश में बुद्ध जी के जन्म दिन को बुद्ध पूर्णिमा मनाई जाती है। इसी प्रकार महावीर भगवान के जन्म दिन पर महावीर जयंती मनाई जाती है।

इस प्रकार सभी धर्मों व जातियों के लोग अपने-अपने तरीक़ों से त्यौहार मनाते हैं। कई स्थानीय त्यौहार भी मनाए जाते हैं, जैसे, पोंगल, ओणम, लोहड़ी, गणेश चतुर्थी, आदि।

essay in hindi

Categories: Essay in hindi

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.