झूठा तोता- moral story in Hindi 

jhuta tota naitik kahani Hindi me

एक बार की बात है बहुत दूर किसी एक जंगल में मीठू नाम का तोता रहता था। उसकी एक बहुत बुरी आदत थी| वह हमेशा बहुत झूठ बोलता था।

वह जंगल के दूसरी पक्षियों और जानवरों  के सामने झूठ बोलकर अपनी बड़ाई करता था और साथ ही साथ दूसरों की बुराई करता था।

एक दिन एक पेड़ पर एक चिड़िया बैठी थी। वह चिड़िया के पास गया और बोला की वह एक दिन पास के गांव के जमींदार के पास गया था।

वहां पर उसने जमींदार के घर बहुत सारी अच्छी-अच्छी मिठाइयाँ और पकवान खाएं।

वह एक दिन जंगल के जानवरों के पास जाकर कहता कि वह चील से भी ज्यादा ऊंचा उड़ सकता हैं और वह बहुत से देशों की यात्रा भी कर चूका है।

उसकी इन सभी हरकतों के कारण सारे जंगल को पता लग चुका था कि वह बहुत झूठ बोलता है। एक दिन जंगल में एक बहुत ही सुंदर कबूतर आया।

कौआ और चिड़िया – moral story in Hindi

सभी पक्षी उसे देखने के लिए आये। मीठू तोता भी उससे मिलने के लिए आया। तोते को देखकर कबूतर बोला तुम तो मीठू हो ना।

यह सुनकर तोता बोला हा मै ही मीठू तोता हूँ। इसके बाद वह अपनी तारीफ करने लगा की देखा बाहर के लोग भी मुझे जानते है।

मै बहुत अमीर हूँ। मै बहुत अच्छा खाना खाता हूँ। मेरे पास बहुत से हीरे जवाहरात है। यह सुनकर कबूतर बोला मै शाही नौकर हूँ।

मै तो तुम्हे राजा के दरबार में अच्छे दावत के लिए आमंत्रित करने आया था। लेकिन तुम तो पहले से ही अच्छे से रह रहे हो और अच्छा खाते हो तो मै चलता हूँ।

तोते ने जब यह सुना तो कहने लगा की मैं तो बस अपनी बड़ाई कर रहा था। इसके बाद कबूतर ने तोते की एक न सुनी और चला गया।

यह देखकर जंगल के सभी पक्षी और जानवर मीठू तोते पर ज़ोर ज़ोर से हँसने लगे।

शिक्षा:

हमें कभी भी किसी भी बात के लिए झूठ नहीं बोलना चाहिए।

liar parrot moral story in Hindi

panchatantr ki kahani


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.